Breaking News

उदयपुर के फोटो जर्नलिस्ट ताराचंद गवारिया को सिंहस्थ का बेस्ट फोटो का अवार्ड

journalist Tara Chand

चित्रकुट धाम स्थित रावतपुरा सरकार आश्रम में फोटो प्रतियोगिता का पहला पुरूस्कार प्राप्त करते उदयपुर के फोटो जर्नलिस्ट ताराचंद गवारिया।

उदयपुर। देश-प्रदेश के जाने-माने युवा फोटोजर्नलिस्ट उदयपुर निवासी ताराचंद गवारिया को चित्रकुट धाम स्थित रावतपुरा सरकार न्यास की तरफ से सिंहस्थ कुंभ विषय पर आयोजित हुई फोटोग्राफी प्रतियोगिता का प्रथम पुरस्कार मिला है। इस पुरस्कार के तहत गवारिया को चित्रकूट धाम पर आयोजित एक समारोह में एक लाख रुपये नकद प्रदान किए गए।

चित्रकुट स्थित रावतपुरा सरकार आश्रम में आयोजित फोटोग्राफी प्रतियोगिता पुरूस्कार वितरण समारोह में फोटोग्राफी प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर रहने वाले फोटो जर्नलिस्ट ताराचंद गवारिया को श्री स्वरूपाचार्य महंत जी और श्री रविशंकर महाराज (रावतपुर सरकार) ने शॉल ओढ़ाकर,ट्राफी और एक लाख का चेक प्रदान करते हुए सम्मानित किया। इसके बाद प्रतियोगिता में दूसरे स्थान पर उज्जैन के दिनेश जाटव, तीसरे स्थान पर इंदौर के राहुल जोशी तथा देवेंद्रकुमार,प्रदीप जोशी, अनुराग छजलानी,महेंद्र राठौर व सुधीर सक्सेना को प्रोत्साहन पुरूस्कार दिए गए। गवारिया को राष्ट्रीय स्तर के पुरस्कार प्राप्त करने पर उदयपुर, डूंगरपुर और बांसवाड़ा जिले के मित्रवर्ग के साथ मीडियाकर्मियों ने खुशी जताई और शुभकामनाएं प्रेषित करते हुए कहा है कि गवारिया ने अपने फन से फोटोग्राफी जगत में भी उदयपुर को देशव्यापी पहचान दी है।

हिरण, तेज बारिश और नागा साधु

Best Photo of the Kumbha

प्रतियोगिता में प्रथम रहा फोटोग्राफ।

ताराचंद गवारिया को जिस फोटो पर पहला पुरूस्कार मिला वह नागा साधुओं की दीक्षा से संबंधित था। यह फोटो गवारिया द्वारा जूना अखाड़ा की तरफ से सिंहस्थ महाकुंभ की भूखी माता घाट पर हुई पहली नागा दीक्षा के दौरान लिया गया था। इस फोटो में दीक्षा के दौरान मूसलाधार बारिश में एक हिरण अपने स्वामी (नागा साधु बनने वाला ) के पास खड़ा था। फोटो में गवारिया ने तेज बारिश में कांपते नागा साधु और बारिश में भीगते हुए हिरण को क्लिक किया था।

कमाल का क्लिक करते हैं गवारिया

उदयपुर निवासी युवा फोटोग्राफर गवारिया प्रतिभावान फोटोग्राफर है और वे अपने कैमेरे से कमाल की फोटोग्राफी करते हैं। वर्तमान में दैनिक भास्कर के नेशनल न्यूजरूम में कार्यरत गवारिया ने इससे पूर्व भी कई प्रकार की फोटो प्रतियोगिताओं में पुरस्कार जीते हैं। उदयपुर में कार्य करते हुए इनके द्वारा रिहायशी इलाके में घुसे पेंथर और इससे जुझते ग्रामीणों के बीच पहुंच कर पेंथर का एक फर्लांग से भी कम दूरी से फोटो खींचकर देशभर में फ्रंटपेज पर अपने फोटोग्राफी कौशल को दर्शाते हुए ख्याति अर्जित की थी। इस फोटो के साथ ही उनको समाचार पत्र प्रबंधन द्वारा सीधे नेशनल न्यूज रूम में सीनियर फोटोजर्नलिस्ट की पदोन्नति दी गई। गवाारिया द्वारा इससे पूर्व कई अविस्मरणीय फोटोग्राफों को क्लिक किया गया है जिसमें गत वर्ष विश्व विरासत दिवस पर कुंभलगढ़ की विश्वप्रसिद्ध दिवार के आकर्षक फोटोग्राफ के साथ सिंहस्थ कुंभ तथा डूंगरपुर जिले में महात्मा गांधी नरेगा योजना के तहत कार्य करवाते हुए पूर्व कलेक्टर सुश्री मंजू राजपाल के टाईम्स ऑफ इंडिया के दो फुलपेज फोटोग्राफ प्रमुख हैं।