Breaking News

विश्व अंगदान दिवस विशेष: किसी को जीवन देने की करें पहल, जानें आपके एक-एक अंग की कीमत

कौन कर सकता है अंगदान?

अंगदान की पहली शर्त है व्यक्ति का स्वस्थ होना। जैसे ब्रेन डेड व्यक्ति, एचआईवी, डायबिटीज, कैंसर, गंभीर संक्रमण, किडनी और हृदय रोगों से पीडि़त न हो। अंगदान दो तरह से किए जा सकते हैं।

1. लिविंग डोनर: जीवित रहते हुए कोई भी व्यक्ति शरीर के कुछ अंग जैसे किडनी, बोन मैरो (अस्थि मज्जा), लिवर और फेफड़े का कुछ हिस्सा परिजनों को डोनेट कर सकता है।

2. ब्रेन डेड: इसे केडेवर डोनर भी कहते हैं। 18 साल से कम उम्र के युवा पैरेंट्स की अनुमति और इससे अधिक उम्र होने पर अंगदान के लिए रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। ब्रेन डेड घोषित होने पर किडनी, लीवर, फेफड़े, पैन्क्रियाज, ओवरी, गर्भाशय, आंखें, हड्डियां और त्वचा का दूसरे शरीर में ट्रांसप्लांट करते हैं।