Breaking News

महिला सिपाही ने कहा: रात में बंगले पर बुलाते हैं IG साहब

परेशान होकर उसने अपनी शिकायत चकरभाटा थाने और एसपी मुंगेली को सारी बात बताई। जब कहीं से इन्साफ नहीं मिला तो रायपुर पुलिस जवाबदेही प्राधिकरण की शरण में पहुंची।पीड़िता ने आईजी से हुई बातचीत का कथित आडियो क्लिप भी मीडिया के सामने पेश की। महिला सिपाही ने कहा पहले आईजी साहब पहले अच्छी बात करते थे, लेकिन बाद में अटपटी बात करने लगे। पीड़िता की लिखित शिकायत के अनुसार आईजी उसे फोन पर कहते तुम बहुत सुंदर हो, तुम्हारा फिगर बहुत अच्छा है। तुमसे बात करना मुझे पसंद है। यह सब मुझे अटपटा लगता था फिर भी जी सर, जी सर करती रही। आईजी ने कहा मैं तुम्हारा ट्रांसफर आईजी ऑफिस में करवा देता हूँ, ताकि मैं रोज तुम्हे देखा करूँगा।

उधर, आईजी पवन देव ने महिला आरक्षक के आरोपों को ख़ारिज करते हुए इसे अपने खिलाफ साजिश बताया। कल ही मैंने ए एस आई आशीष वासनिक को बर्खास्त किया है। उसके महिला सिपाही से घनिष्ठ संबंध है। इसलिए वह बदला ले रही है। आशीष ने बर्खास्त होने के बाद नतीजा भुगतने की धमकी दी थी। 1992 बैच के पुलिस ऑफिसर रहे देव पर पहली बार ऐसे आरोप लगे हैं। वे जून 2014 से बिलासपुर रेंज के आईजी हैं।