Breaking News

प्यार की सजा : लावारिसों जैसी अंत्येष्टि, माता-पिता ने फेरा मुंह कहा-नहीं लेंगे बेटी का शव

कहते हैं मौत के बाद तो सारे गिले सिकवे भुला दिए जाते हैं, और मृतक के परिजन धर्मानुसार अंत्यष्टि करते हैं। लेकिन इस बदनसीब मृतक महिला का साथ अपनों ने न तो जिंदा रहते दिया और न ही मौत के बाद। जन्म देने वालों की बेरुखाई तो इस कदर नजर आई कि महिला के माता-पिता के द्वारा शव लेने से ही इंकार कर दिया गया।

वहीं, महिला की हत्या भी उसके पति ने गला घोट कर दी। अपनों के मुंह फेरने के बाद महिला का अंतिम संस्कार पुलिस के द्वारा लावारिसों की तरह किया गया।

अरथूना थाना क्षेत्र के मोटी बस्सी चौहान माता मन्दिर में पत्नी का गला घोंटकर हत्या करने के बाद आरोपित पति दलजी का गढ़ा निवासी कालिया कनीपा पुत्र रूपा घटना के बाद फरार हो गया। लेकिन पुलिस ने बुधवार को उसे हिरासत में ले लिया और पुलिस ने गुरुवार को उसे न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश हुए।

दूसरी जाति में कर ली थी शादी

पुलिस ने जब पीहर पक्ष से शव लेने के लिए कहा तो उन्होंने यह कहते हुए शव नहीं लिया कि नर्बदा ने दूसरी जाति में प्रेम विवाह किया है। अगर नर्बदा का शव लेंगे तो लोग हमें जाति से बाहर कर देंगे। इसके चलते पीहर पक्ष वालों ने अपने हाथ खींचे लिए थे। इसके बाद जब पुलिस ने ससुराल में संपर्क किया तो वहां कोई नही मिला। तब पुलिस ने ही पति को साथ लेकर नर्बदा का अंतिम संस्कार करवाया था।