Breaking News

गांव में ले जाकर निर्वस्त्र कर घुमाने वाले थे आरोपी

उदयपुर। पति द्वारा आए दिन मारपीट से परेशान होकर पति से सारे रिश्ते तोड़कर अपने बल पर काम कर गुजारा कर रही नाबालिग विवाहिता को उसका पति अपने साथियों के साथ उठाकर ले गया और गांव में ले जाकर निर्वस्त्र कर गांव में रैली निकालने वाले थे। समय पर पुलिस को सूचना मिलने पर पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर विवाहिता की रिपोर्ट पर मामला दर्ज किया।

जिला पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र प्रसाद गोयल ने बताया कि सुबह सवीना में एक कमरे में किराए पर रही एक युवती के अपहरण की जानकारी मिली थी। जिसमें बताया कि एक बोलेरों कार में एक साथ छ: लोग आए और इस युवती के साथ रह रहे एक युवक के साथ मारपीट कर युवती का अपहरण कर ले गए। इस पर तत्काल पूरे जिले में नाकाबंदी करवाई गई और युवती की तलाश शुरू कर दी। इसी दौरान झल्लारा थानाधिकारी शैतानसिंह ने नाकाबंदी में इस बोलेरों को रोक लिया। हालांकि आरोपियों ने नाकाबंदी तोडऩे का प्रयास किया था, परन्तु सफलता नहीं मिली। पुलिस को बोलेरो में एक युवती अनिता पुत्री सोहनलाल मीणा निवासी जोलाना घढ़ी परतापुर बांसवाड़ा बंधक अवस्था में मिली। इस पर पुलिस ने बोलेरों में सवार आरोपी लक्ष्मण उर्फ लस्सु पुत्र नानजी मीणा, मणिलाल पुत्र केला मीणा, मणीया पुत्र नाहर मीणा, हालु पुत्र धुलिया मीणा, नाथू पुत्र सरदार मीणा, प्रभु उर्फ प्रभुड़ा पुत्र पूना मीणा ईश्वर उर्फ ईशु पुत्र श्याम मीणा निवासी सामलिया गांधी नगर बांसवाड़ा होना बताया। पुलिस को कार में से तलवारें  और अन्य हथियार मिले। इस पर इन लोगों को गिरफ्तार कर युवती से पूछताछ की।

थानाधिकारी झल्लारा शैतानसिंह ने बताया कि युवती अनिता ने बताया कि उसकी दो वर्ष पूर्व करीब 16 वर्ष की आयु में आरोपी लक्ष्मण मीणा के साथ शादी हुई थी। शादी के बाद आरोपी उसके साथ आए दिन मारपीट करता था। इसी बीच उसके एक लड़की परी हुई जिसके बाद भी उसका पति उसके साथ आए दिन मारपीट करता था। जिससे वह परेशान हो गई। इसी दौरान उसका परिचय राहुल नामक युवक से हुआ जो उदयपुर में रहकर इंजीनियरिंग कर रहा था। राहुल से परिचय होने पर उसने अपने पति से सारे रिश्तों को तोड़कर अपनी पुत्री को माता-पिता को सुपुर्द कर वह उदयपुर चली गई। उदयपुर में सवीना में राहुल और अनिता ने एक कमरा किराए पर लिया और दोनों लिव इन रिलेशनशिप में साथ रहने लगे। राहुल ने उसकी एक ब्यूटीपार्लर में नौकरी भी लगा दी जिससे वह काम कर अपना गुजारा कर रही थी।

अनिता ने बताया कि उसका पति लक्ष्मण कई दिनों से उसे फोन पर ही धमका रहा था और जान से मारने की धमकी दे रहा था। रविवार सुबह वह अपने कमरे में काम कर रही थी। इसी दौरान उसका पति और साथी आए। जबरन उसे उठाकर ले जाने लगे। उसके साथ रहने वाले राहुल ने विरोध किया तो आरोपियों ने उसके साथ मारपीट की और उसे बोलेरों में डालकर ले गए। रास्ते में उसका पति लक्ष्मण उसे बार-बार कह रहा था कि गावं में ले जाने के बाद उसे पूरी निर्वस्त्र कर गांव में ही रैली निकाली जाएगी और उसके बाद उसका सामाजिक बहिष्कार कर दिया जाएगा। जिससे वह काफी डर गई थी। इधर सवीना में हुई मारपीट पर लोग एकत्रित हो गए थे और पुलिस को सूचित कर दिया था। जिस पर इन लोगों की तलाश शुरू कर दी थी। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

मुंह से कपड़ा हटाया तो मचाया शोर

झल्लारा थानाधिकारी शैतानसिंह ने बताया कि अनिता का अपहरण करने के बाद आरोपियों ने उसके मुंह पर कपड़ा बांध दिया था और बोलेरो में तेज गति में लेकर जा रहे थे। इसी दौरान रास्ते में झल्लारा थाना क्षेत्र में स्थित कोलड़ी टोल नाके पर युवती ने पानी पीने का ईशारा किया तो आरोपियों ने उसके मुंह से कपड़ा हटा दिया। इस पर उसने शोर मचाया तो आरोपी बिना टोल चुकाए ही भाग गए थे। इस पर टोलनाका कर्मचारियों ने पुलिस को सूचित कर दिया। पुलिस ने नाकाबंदी कर आरोपियों को आखिरकार पकड़ ही लिया।

एक और कसोटिया कांड होने से रूका

गौरतलब है कि कुछ दिनों पूर्व भीण्डर थाना क्षेत्र के कसोटिया गांव से भागी एक विवाहिता को उसका पति और अन्य ग्रामीण तलाश कर लाए थे और दोनों को नंगा कर पेड़ से बांधकर मारपीट की थी। इस मामले ने राष्ट्रीय स्तर पर तूल पकड़ा था। पुलिस की त्वरित कार्यवाही के कारण एक ओर कसोटिया कांड होने से रूक गया। अन्यथा फिर से राष्ट्रीय स्तर का नया मामला हो जाता।